HPPR
|

सराहां में आवारा कुत्तों का आतंक, बाजार में घूमते झुंड लोगों के लिए बने परेशानी का सबब

सराहां/तरुण खुराना : पच्छाद क्षेत्र के सराहां मुख्यालय में आवारा कुत्तों का आतंक बढ़ गया है। सड़कों पर कुत्तों के झुंड सुबह से लेकर शाम तक घूमते रहते हैं। दर्जनों आवारा कुत्तों के झुंड बाजार में आने-जाने वाले लोगों के लिए परेशानी का सबब बना हुआ है। ये कुत्ते कई बार लोगों पर झपट भी चुके है। 

कुत्तों के आतंक के कारण परिजन छोटे बच्चों को बाहर अकेले कहीं भी भेजने से कतरा रहे है। शनिवार को एक आवारा कुत्ता पाग़ल हो गया। सुबह से ही कुत्ता बाज़ार में लोगों को काटने के लिए झपट्टता रहा। पहले तो यह मज़ाक़ का विषय बना रहा परंतु थोड़ी ही देर में इस कुत्ते ने लगभग चार लोगों को अपना शिकार बना लिया। कुत्ते ने सात साल के युवराज को उस समय काटा जब वह ट्यूशन पढ़ने जा रहा था। पागल कुत्ता अभी भी सराहां बाजार में खुलेआम घूम रहा है। 

बता दें कि सराहां बाजार में दो स्कूल भी हैं, जिस कारण लोग अपने बच्चों को अकेला स्कूल भेजने व ट्यूशन भेजने से कतरा रहे है। स्थानीय लोग मनजीत, अमानदीप, हरजोत, विक्रम, चतर सिंह, नरेंद्र , विवेक आदि का कहना है कि रात के समय ये कुत्ते ओर भी खूंखार हो जाते हैं। रात चलते हर व्यक्ति के पीछे भागते रहते हैं। इतना ही नहीं रात्रि के समय ये झुंड बनाकर जोर-ज़ोर से भौंकते हैं। जिस कारण लोगों की नींद भी खराब होती है।

आवारा कुत्तों के आतंक को लेकर स्थानीय लोग कई बार प्रशासन को भी अवगत करवा चुके हैं, मगर अभी तक इस दिशा में कोई प्रयास होते नहीं दिख रहे हैं। लोगों का कहना है कि दिन-प्रतिदिन आवारा कुत्तों की संख्या में इजाफा हो रहा है। समय रहते इन कुत्तों को पकड़कर रिहायशी इलाके व बाज़ार से पकड़कर जंगल में नहीं छोड़ा गया तो भविष्य में इसके कोई बड़ी घटना पेश आ सकती है।

लोगों का कहना है कि इससे पहले की ये आवारा व पागल कुत्ते किसी मासूम को अपना बना ले। स्थानीय प्रशासन को उन्हें पकड़कर इनकी नसबंदी भी की जानी चाहिए। ताकि इनकी नस्ल पर काबू पाया जा सके।