| |

#Himachal : ताकत का अनोखा इम्तिहान, नारी शक्ति भी नहीं पीछे 

शिमला, 17 जुलाई : हिमाचल प्रदेश के पुरुषों व महिलाओं की ताकत से जुड़े वीडियो पहले भी आप देखते आए होंगे, लेकिन इस बार ताकत का इम्तिहान सूबे के लोक निर्माण विभाग द्वारा लिया जा रहा है। दरअसल विभाग द्वारा मल्टीटास्क वर्कर के पदों पर भर्ती प्रक्रिया हो रही है। इस प्रक्रिया के अनोखे इम्तिहान की चर्चा अब राज्य से बाहर दूसरे प्रदेशों में भी होने लगी है। विपक्ष इस पर सवाल उठा रहा है। 

     लोक निर्माण विभाग द्वारा इस इम्तिहान में पुरुषों को 50 किलो सीमेंट की बोरी उठाकर 50 मीटर तक दौड़ना होता है, जबकि महिलाओं को 25 किलो के सीमेंट की बोरी उठाकर इतनी ही दूरी तय करनी होती है। दिलचस्प बात यह है कि उच्च शिक्षित वर्ग के युवा भी इस भर्ती प्रक्रिया में सीमेंट की बोरी उठाकर दौड़ते नजर आ रहे हैं।

विभाग का तर्क है कि बहुउद्देशीय कार्यकर्ता की भर्ती की जा रही है तो यह भी देखना लाजमी है कि वास्तव में जिस व्यक्ति को भर्ती किया जा रहा है, उसमें शारीरिक क्षमता सही है या नहीं। इस बात पर अब तक सस्पेंस ही है कि लोक निर्माण विभाग के किस अधिकारी ने शारीरिक दक्षता के लिए यह पैमाना निर्धारित करने में भूमिका निभाई है। 

    अलबत्ता यह जरूर है कि इस भर्ती प्रक्रिया से जुड़े वीडियो सोशल मीडिया में खूब वायरल हो रहे हैं। खासकर महिलाओं के वीडियो काफी चर्चा में हैं। बताते हैं कि मल्टीटास्क वर्कर के पद पर नियुक्त होने की होड़ लगी हुई है। इस कारण आवेदक सीमेंट की बोरी उठाकर 50 मीटर की दूरी तय करने में कोई संकोच नहीं कर रहे। भर्ती प्रक्रिया में पहुंचने से पहले घर पर भी सीमेंट की बोरी उठाकर दौड़ने की प्रैक्टिस की जा रही है, ताकि भर्ती की प्रक्रिया में मायूसी का सामना न करना पड़े।