HPPR
| | |

रसूखदार मासूम की करते थे बेरहमी से पिटाई, नौकर कर रहा था दुष्कर्म…

शिमला, 12 नवंबर : राजधानी में मानव तस्करी (Human trafficking) के पर्दाफ़ाश के मामले में एक नया मोड़ (New Angle) आया है। पुलिस ने घर में ही काम करने वाले एक नौकर को बच्ची से दुष्कर्म (Rape )करने के आरोप में गिरफ्तार (Arrest) किया हुआ है। बता दें कि 15 साल की बच्ची की मानव तस्करी की घटना में पुलिस ने दिल्ली से दो आरोपियों (Accused) को भी गिरफ्तार किया था। अहम बात यह है कि पुलिस ने इस मामले को बेहद ही गंभीरता (Seriously) से लेकर जांच को आगे बढ़ाया है। खुद एसपी मोहित चावला इस मामले की निगरानी कर रहे हैं।
उमंग फ़ाउंडेशन (Umang Foundation) की इत्तला पर पुलिस ने मध्य प्रदेश की रहने वाली 15 वर्षीय मासूम को टुटू में गैस एजैंसी (Gas Agency) चलाने वाले रसूखदार परिवार (Influential Family) के घर से रेस्क्यू (Rescue) किया था। इसी बीच राज्य बाल संरक्षण आयोग (State child protection commission) ने मामले का संज्ञान लेकर पुलिस से जवाब मांगा है। आयोग के मुताबिक मीडिया (Media) के माध्यम से पता चला है कि बच्ची को घर में गुलामों (Slaves) की तरह रखा गया। इस मामले में आयोग पुलिस से यह जानना चाहता है कि बच्ची को मध्य प्रदेश से यहां कौन लेकर आया था। क्या इसकी जानकारी पीड़िता के परिवार को थी। यदि परिवार को इसकी जानकारी थी तो एक साल से उसका पता करने की कोशिश क्यों नहीं की गई।
आयोग का यह भी मानना है कि लाॅकडाउन (Lockdown) के दौरान वित्तीय संकट, गरीबी, शिक्षा की कमी व अन्य कारणों से इस तरह की घटनाओं में वृद्धि हुई है। बच्चे देश का भविष्य हैं, लिहाजा उनकी रक्षा व देख-रेख सरकार के साथ-साथ समाज की है। आयोग ने पुलिस से एक सप्ताह के भीतर स्टेटस रिपोर्ट मुहैया करवाने को कहा है। इसी बीच एमबीएम न्यूज नेटवर्क से बातचीत में शिमला के एसपी मोहित चावला ने कहा कि इस पूरे मामले में पुलिस गंभीरता से जांच कर रही है। मानव तस्करी के मामले में दो को गिरफ्तार किया गया। इसके अलावा दुष्कर्म के आरोपी से भी पूछताछ चल रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.