|

हिमाचल में मानसूनी बारिश से तबाही जारी, 14 मकान धराशायी…55 सड़कें बंद

शिमला, 06 अगस्त: हिमाचल प्रदेश में मानसूनी वर्षा से तबाही जारी है। बारिश की वजह से घरों और सड़कों को भारी नुकसान हो रहा है। राज्य भर में शनिवार को 14 मकान क्षतिग्रस्त हुए, वहीं 55 सड़कें, 35 ट्रांसफार्मर और नौ पेयजल परियोजनाएं ठप रहीं। नेशनल हाईवे सहित सड़कों पर यातायात बाधित होने से लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। चंडीगढ़-मनाली नेशनल हाईवे मंडी जिला के सात मील के पास भूस्खलन से घंटों बंद रहा।

File Photo

राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण की दैनिक रिपोर्ट के मुताबिक कुल्लू जिला में 32 सड़कें, मंडी जिला में 16, सोलन में तीन, चंबा जिला में दो और बिलासपुर व कांगड़ा जिलों में एक-एक सड़क अवरूद्व हुई। इसके अलावा कुल्लू जिला में 30 और मंडी में पांच ट्रांसफार्मरों के ठप रहने से लोगों को बिजली किल्लत का सामना करना पड़ा। चंबा जिला में आठ और लाहौल-स्पीति में एक पेयजल परियोजना भी बाधित रही।

रिपोर्ट के अनुसार बारिश से चार मकान धराशायी हुए, जबकि 10 मकानों को आंशिक नुकसान पहुंचा। कुल्लू व शिमला में एक-एक पक्का मकान और बिलासपुर व सोलन में एक-एक कच्चा मकान पूर्ण रूप से ध्वस्त हो गया। इसी तरह हमीरपुर, कांगड़ा व उना जिलों में दो-दो और बिलासपुर, चंबा, मंडी व शिमला जिलों में एक-एक कच्चे मकानों को आंशिक नुकसान पहुंचा। इसके अलावा बिलासपुर में दो और ऊना में एक पशुशाला भी जमींदोज हो गई।

मौसम विभाग ने प्रदेश भर में 10 अगस्त तक मौसम के खराब रहने की संभावना जताई है। इस दौरान मैदानी व मध्य पर्वतीय क्षेत्रों में भारी वर्षा का येलो अलर्ट जारी किया गया है। मौसम विभाग ने लोगों को नदी-नालों से दूरी बनाए रखने की हिदायत दी है। राजधानी शिमला व आसपास के क्षेत्रों में शनिवार को वर्षा न होने से लोगों ने राहत की सांस ली।

बीते 24 घंटों के दौरान नैना देवी में 82, जोगिंद्रनगर में 70, भोरंज में 58, भुंतर में 53, मंडी में 49, गुलेर में 40, पंडोह में 39, सुजानपुर टीहरा में 38, सराहन में 34, धर्मपुर में 32, सरकाघाट व नादौन में 28-28, कंडाघाट में 26, बंजार, तिंदर व मनाली में 25-25, उना में 24, गग्गल व सोहबाग में 23-23, खीरी  में 22, बजुआरा में 21 और अघ्घर में 19 मिमी बारिश दर्ज की गई।