| |

हिमाचल में मंडी व धर्मशाला में साइबर क्राइम थाने, अधिसूचना जारी…

शिमला, 6 अगस्त : हिमाचल प्रदेश सरकार ने राज्य में दक्षिण, उत्तर व सैंट्रल रेंज के स्तर पर साइबर क्राइम थाने खोलने की अधिसूचना जारी की है। ये साइबर क्राइम थाने रेंज स्तर के होंगे।

फिलहाल, प्रदेश में एकमात्र साइबर क्राइम थाना को शिमला से ही संचालित किया जा रहा है, यानि राज्य भर में साइबर क्राइम से जुड़े अपराध को शिमला में ही दर्ज किया जाता था। लेकिन अब धर्मशाला व मंडी में भी थाने खोले जाएंगे। शिमला साइबर क्राइम के एसपी ही तीनों थानों के एसओ होंगे। थाना स्तर पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक की तैनाती होगी।

दक्षिण रेंज में शिमला थाने का अधिकार क्षेत्र सोलन, सिरमौर, किन्नौर व बद्दी का होगा। मौजूदा थाने के अधिकार क्षेत्र को राज्य की बजाय दक्षिण हिमाचल में सीमित किया गया है।

उधर, उत्तरी रेंज में साइबर क्राइम थाना धर्मशाला से संचालित होगा। इसकी जद में कांगड़ा,  ऊना, चंबा व नूरपुर होंगें। सैंट्रल रेंज का साइबर क्राइम थाना मंडी में खुलेगा। इस थाना का अधिकार क्षेत्र मंडी, बिलासपुर, कुल्लू, हमीरपुर व लाहौल स्पीति को रखा गया है।

शनिवार को सरकार ने नए थानों को लेकर अधिसूचना जारी कर दी है। साइबर क्राइम थानों का मुख्यालय सीआईडी हेडक्वार्टर शिमला को तय किया गया है। यानि साइबर क्राइम को सीआईडी के अधिकार क्षेत्र में लाया गया है।  गौरतलब है कि इससे पहले राज्य में एकमात्र स्टेट साइबर क्राइम पुलिस थाना कार्य कर रहा था। इसे 19 अगस्त 2016 को शुरू किया गया था। इसी थाना के तहत समूचे हिमाचल में साइबर क्राइम से जुड़े अपराधों को दर्ज किया जाता था।

 इस थाना के पुलिस अधीक्षक कार्यालय को नोडल एजेंसी के तौर पर  भी अधिसूचित किया गया है। साइबर क्राइम से जुड़े अपराधों से निपटने के लिए नवीन तकनीक, हार्डवेयर, साफ्टवेयर के अलावा कर्मचारियों का प्रशिक्षण भी होगा। खास बात ये है कि नए अधिसूचित साइबर क्राइम पुलिस थानों को अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक स्तर के अधिकारियों द्वारा लीड किया जाएगा।

उधर, एक अन्य अधिसूचना में सरकार ने धर्मशाला व मंडी साइबर थानों के लिए अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक स्तर के एक-एक पद को भी सृजित किया है। इसके अलावा निरीक्षक स्तर के चार पदों को अधिसूचित किया गया है। हैड कांस्टेबल के 6 पद बनाए गए हैं। कांस्टेबल स्तर पर 14 पद सृजित किए गए हैं, इसमें चार पद महिला आरक्षियों के हैं।

उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर द्वारा सीआईडी कार्यालयों को रेंज स्तर पर साइबर क्राइम पुलिस स्टेशन के माध्यम से खोलने का जिक्र 2022-23 के बजट सत्र में किया था। कुल मिलाकर हिमाचल में राज्य सरकार ने साइबर क्राइम से निपटने के लिए प्रभावी कदम उठाने की पहल की है।

जानकारों का कहना है कि नए थाने खुलने से साइबर अपराधियों के खिलाफ प्रभावी कदम उठाने में मदद मिलेगी। अब तक शिमला से ही इस अपराध से जुड़ी जांच की जाती थी।

उधर, एमबीएम न्यूज नेटवर्क से बातचीत में साइबर क्राइम के पुलिस अधीक्षक रोहित मालपानी ने अधिसूचनाओं के जारी होने की पुष्टि की है। उन्होंने कहा कि जल्द से जल्द धर्मशाला व मंडी में साइबर क्राइम थानों को क्रियान्वित कर दिया जाएगा।