HPPR
| | |

#CWG : एक बार फिर “विकास” ने दिखाया दम खम, देश को दिलाया रजत पदक

हमीरपुर, 2 अगस्त : जिला के विकास ठाकुर ने एक बार फिर प्रदेश के साथ-साथ देश का नाम भी रोशन किया है। बर्मिंघम कॉमनवेल्थ गेम्स में विकास ठाकुर ने रजत पदक हासिल कर देश का नाम रोशन किया है। विकास ठाकुर ने यह खिताब 96 किलो भार वर्ग में अपने नाम किया है। यहां बता दें कि विकास ठाकुर का मुकाबला इंग्लैंड, कनाडा, ऑस्ट्रेलिया व समोआ के पूर्व विजेता खिलाड़ियों के साथ था। 

विकास ठाकुर

14 नवंबर 1993 को हिमाचल प्रदेश के हमीरपुर जिला के पटनौण में जन्मे विकास ने लुधियाना के विभिन्न स्कूलों से प्राथमिक शिक्षा ली। विकास ने अपने पिता से कहा था कि एक दिन ऐसा आएगा जब लोग आपको मेरे नाम से जानेंगे। आज उसने उस वाक्य को सच कर दिखाया है।
 विकास के रजत पदक हासिल करने की खबर सुनकर उनकी मां आशा ठाकुर के आंख से खुशी के आंसू छलक आए। उन्होंने कहा कि मुझे अपने बेटे पर गर्व है। वहीं परिजनों और स्थानीय लोगों ने जीत का जश्न मनाया। विकास के पिता बृज लाल ठाकुर भारतीय रेलवे में और माता गृहिणी हैं।

बृज लाल ठाकुर ने कहा कि एक बार उन्होंने अपने बेटे को दुकान से सामान लेने भेजा और कहा कि दुकान वाले बाबू को कह देना कि पापा बाद में आएंगे। इस दौरान विकास कहने लगा कि आज तो मैं आपका नाम लेकर जाऊंगा, लेकिन एक दिन ऐसा आएगा जब लोग आपको मेरे नाम से जानेंगे। आज विकास ने अपने बोले गए इन्हीं लफ्जों को सच कर दिखाया है। विकास वर्तमान में भारतीय वायुसेना में वारंट ऑफिसर के तौर पर सेवारत हैं।