HPPR

सीएम का भरोसा : ढूंढ लिया जाएगा भेड़ पालक # बकरियों सहित हो गया था दफ़न….

वी कुमार/मंडी

 बड़ा भंगाल में बर्फ के नीचे दफन हुए मंडी निवासी भेड़ पालक राकेश कुमार को तलाशने के लिए राज्य सरकार विशेष दल भेजेगी, ताकि उसे जल्द से जल्द तलाशा जा सके। यह आश्वासन सीएम जयराम ठाकुर ने आज उनसे पंजाई में मिलने आए राकेश कुमार के परिजनों को दिया। बता दें कि राकेश कुमार सुपुत्र सिधू राम मंडी जिला के पधर उपमंडल के गरलोग गांव का रहने वाला था। लंबे समय से भेड़-बकरी पालन का काम करता था। राकेश के पिता सिधू राम ने सीएम जयराम ठाकुर को बताया कि उसका बेटा राकेश कुमार हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी गर्मियों में बड़ा भंगाल की पहाडि़यों पर गया हुआ था।

सीएम जयराम ठाकुर राकेश के परिजनों से बात करते

   बीती 21 सितंबर को अचानक मौसम खराब होने के कारण उसका बेटा राकेश कुमार और एक अन्य युवक इंद्र कुमार दोनों भारी बर्फबारी के कारण मराला धार के पास फंस गए। सुबह 8 बजे से लेकर शाम 5 बजे तक दोनों जैसे-तैसे आगे बढ़े, लेकिन भारी बर्फ के कारण राकेश गिर गया और आगे नहीं बढ़ सका। उसका साथी इंद्र कुमार घबरा गया और पशुओं को रोककर रात 10 बजे तक दोनों वहीं बैठे रहे। रात को 11 बजे राकेश का पूरा शरीर ठंडा पड़ गया। इंद्र कुमार ने राकेश को कंबल ओढ़ाकर वापिस बड़ा भंगाल की तरफ चला गया। जैसे-तैसे इंद्र कुमार मराला धार तक पहुंचा और यहां गद्दियों के डेरे में रूककर अपनी जान बचाई।

   इसके बाद इंद्र कुमार जैसे-तैसे वहां से वापिस घर आ गया। इस वक्त वह अस्पताल में भर्ती है। सिधू राम ने बताया कि उसका बेटा और मवेशी बर्फ में दफन हो चुके हैं। अब उन्हें उसे ढूंढने के लिए प्रशासन और सरकार की मदद की जरूरत है। इन्होंने अपने स्तर पर एक दल उसे ढूंढने के लिए भेजा भी था। मगर सफलता नहीं मिल सकी है। इन्होंने सीएम से मदद की गुहार लगाई है। वहीं सीएम जयराम ठाकुर ने बताया कि बीते दिनों सेना का हैलिकॉप्टर बड़ा भंगाल भेजा गया था, लेकिन उस दौरान लापता राकेश का पता नहीं चल सका। उन्होंने कहा कि अब मौसम ठीक हो गया है। जल्द ही राकेश कुमार को तलाशने के लिए स्पेशल टीम भेजी जाएगी। राकेश कुमार जिंदा है या मृत इस बात की पुष्टि नहीं हो पाई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.