HPPR

राजगढ: हरिजन लीग ने शहीद अजय व जिन्दान को मरणोपरान्त दिया हिमाचल गौरव सम्मान

एमबीएम न्यूज/नाहन
अखिल भारतीय हरिजन लीग की हिमाचल इकाई ने नौंवे राज्य स्तरीय वार्षिक उत्कृष्ट सेवा सम्मान समारोह में शहीद अजय कुमार व केदार सिंह जिन्दान को मरणोपरान्त हिमाचल गौरव सम्मान से अलंकृत किया है। यह सम्मान सामाजिक न्याय व अधिकारिता मंत्री ने राजगढ़ में आयोजित अंबेदकर सभागार में शहीद अजय कुमार की मां व जिन्दान की पत्नी को प्रदान किया है। इस मौके पर दलित समाज से जुडे़ 20 व्यक्तियों को उत्कृष्ट कार्य करने के लिए सम्मानित किया गया। सनद रहे कि महज 24 साल की उम्र में सराहां विकास खंड के रहने वाले अजय कुमार ने अप्रैल माह में देश पर अपनी जान न्यौछावर कर दी थी।

शहीद की मां व जिन्दान की पत्नी को सम्मानित करते हरिजन लीग के पदाधिकारी

माता-पिता की इकलौती संतान अजय कुमार की शहादत पर हर किसी ने गौरव महसूस किया था। इसके बाद सैनिक वैलफेयर बोर्ड के उपनिदेषक मेजर दीपक धवन ने शहीद के बूढे़ माता-पिता को गोद लेने का ऐलान किया। इस मौके पर संबोधन में सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री डॉ. राजीव सहजल ने कहा कि गौत्र बदलने से प्रशस्ति नहीं मिलती, बल्कि इंसान के गुणों की हर जगह कद्र होती है। विधायक सुरेश कश्यप ने कहा कि विधानसभा में अनुसूचित जाति की 17 सीटें आरक्षित हैं। इसमें 13 पर बीजेपी के विधायक हैं।
अखिल भारतीय हरिजन लीग के प्रदेश अध्यक्ष किशोरी लाल कौडल ने सरकार द्वारा बजट का 25 प्रतिशत हिस्सा अनुसूचित जाति के कल्याण व उत्थान पर खर्च कर रही है। कौंडल ने सरकार से संगड़ाह में पर्यावरणविद किंकरी देवी पार्क को शीघ्र विकसित करने का आग्रह भी किया। उधर अखिल भारतीय हरिजन लीग की सराहां इकाई के गीता सिंह ने इस्तीफा देने का ऐलान किया है। उनका कहना है कि वार्षिक अधिवेशन में वो जिन्दान हत्याकांड का मामला उठाना चाहते थे। गीता सिंह ने कहा कि उन्हें मंच से बोलने का मौका नहीं दिया गया। विरोध के तौर पर इस्तीफा दे रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.