HPPR
|

अब ऊना में लगे जोइया मामा मनदा नहीं के नारे, कर्मचारियों ने पुरानी पेंशन को भरी हुंकार

ऊना,10 जुलाई : पुरानी पेंशन स्कीम की मांग को लेकर कर्मचारियों ने रविवार को जिला मुख्यालय के एमसी पार्क में पेंशन संकल्प रैली का आयोजन किया। इस महारैली में महासंघ के प्रदेश अध्यक्ष प्रदीप ठाकुर ने विशेष रूप से शिरकत करते हुए कर्मचारी हितों के लिए आवाज बुलंद की। 

पेंशन संकल्प रैली को लेकर ऊना में जुटे विभिन्न विभागों के कर्मचारियों ने एमसी पार्क से लेकर ट्रैफिक लाइट चौंक तक रैली निकालते हुए अपनी मांगों को लेकर जोरदार नारेबाजी की, इस दौरान कर्मचारियों ने एक बार फिर जोइया मामा मनदा नहीं के नारे भी लगा दिए, वहीं रैली के बाद एमसी पार्क में धरना प्रदर्शन भी किया गया। गौरतलब है कि न्यू पेंशन स्कीम कर्मचारी एसोसिएशन की प्रदेशभर में यह आठवीं पेंशन संकल्प रैली आयोजित की गई है। 

       अब पुरानी पेंशन की बहाली को लेकर ऊना में भी कर्मचारियों ने जोइया मामा मनदा नहीं के नारे लगा डाले है, दरअसल न्यू पेंशन स्कीम कर्मचारी एसोसिएशन ने पुरानी पेंशन बहाल कराने की मांग को लेकर आज ऊना में हुंकार भरते हुए पेंशन संकल्प रैली का आयोजन किया था। पेंशन संकल्प रैली का आगाज एसोसिएशन के प्रदेशाध्यक्ष प्रदीप ठाकुर सहित अन्य पदाधिकारियों ने एमसी पार्क में स्थित शहीद स्मारक पर पुष्प अर्पित कर किया। 

       इसके बाद न्यू पेंशन स्कीम के दायरे में आए लगभग सभी विभागों के सैकड़ों कर्मचारियों ने जोरदार नारेबाजी करते हुए प्रदेश सरकार से पुरानी पेंशन स्कीम को जल्द यथावत लागू करने की मांग उठाते हुए एमसी पार्क से रैली शुरू कर ट्रैफिक लाइट चौंक होते हुए वापिस एमसी पार्क में रैली का समापन किया, वहीं एमसी पार्क में धरना प्रदर्शन करते हुए एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने विभिन्न विभागों के कर्मचारियों के समक्ष अपने विचार भी रखे। 

     इस मौके पर प्रदेश अध्यक्ष प्रदीप ठाकुर ने कहा कि पुरानी पेंशन की बहाली को लेकर एसोसिएशन द्वारा लगातार अपनी आवाज बुलंद की जा रही है और इसी कड़ी में आठवीं पेंशन संकल्प रैली ऊना में आयोजित की गई है। उन्होंने कहा कि एसोसिएशन ने अपनी बात सरकार तक पहुंचाई है और करीब 3 से 4 बार सरकार और कर्मचारियों के बीच वार्ता भी हो चुकी है, उन्हें उम्मीद है कि सरकार एक कदम आगे बढ़ा कर कर्मचारियों के लिए पुरानी पेंशन स्कीम को बहाल करेगी। वहीँ सरकार द्वारा ओल्ड पेंशन स्कीम को लेकर गठित की गई कमेटी को लेकर भी एसोसिएशन सरकार से खफा दिखी। 

     एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष प्रदीप ठाकुर ने इस कमेटी के गठन को करीब चार माह बीत चुके है लेकिन अभी तक एक भी बैठक आयोजित नहीं की गई है। उन्होंने कहा कि यदि सही तरीके में इस कमेटी का गठन पुरानी पेंशन स्कीम की बहाली के लिए होता तो शायद आज तक इसकी सिफारिशों को भी लागू कर दिया जाता। 

    उन्होंने कहा कि अब चुनाव आचार संहिता नजदीक है और वहीं सरकार का यह कार्यकाल भी जल्द खत्म होने वाला है ऐसे में प्रदेश सरकार द्वारा चुनाव से पहले घोषित किए गए चुनाव घोषणापत्र में पुरानी पेंशन स्कीम बहाली के तर्क को अब तक लागू नहीं किया जाना दुर्भाग्यपूर्ण है। प्रदीप ठाकुर ने मांग की है कि अब सरकार किसी भी कमेटी के चक्कर में ना पड़ते हुए सीधे सीधे पुरानी पेंशन स्कीम को लागू करने की घोषणा करें। 

      वहीं दूसरी तरफ विपक्ष द्वारा कर्मचारियों की पुरानी पेंशन स्कीम की मांग का समर्थन करने के ऐलान का प्रदीप ठाकुर ने स्वागत किया। प्रदीप ठाकुर ने कहा कि वर्तमान समय चुनावी वर्ष का है ऐसे में कर्मचारियों का संघर्ष भी लगातार जारी है कर्मचारियों चाहते हैं कि इसी सरकार के कार्यकाल में उनकी पुरानी पेंशन स्कीम को बहाल किया जाए। वहीं उन्होंने यह भी कहा कि अभी चुनाव में समय है और चुनाव के नजदीक आते आते कर्मचारी वर्ग खुद फैसला करेगा।