HPPR

देवभूमि ने कानपुर रेल हादसे में खोया होनहार बेटा, 24 वर्षीय लेफ्टिनेंट की मौत से हर कोई है गमगीन।

मंडी (वी कुमार) : उपमंडल की भरनाल पंचायत के कोलनी गांव के 24 वर्षीय लेफ्टिनेंट की गत दिन हुए ट्रेन हादसे में मौत हो गई है। पंचायत प्रधान माया देवी ने बताया कि नरेंद्र कुमार पुत्र मिल्खी राम चार वर्ष पूर्व अपनी कॉलेज की पढ़ाई कर के सेना में भर्ती हुआ था।

     भर्ती के बाद भी नरेंद्र ने अपनी पढ़ाई जारी रखी और रातों को जाग-जाग कर सेना का कमीशन पास कर देहरादून की सैनिक अकादमी में ऑफिसर ट्रेनिंग के लिए चला गया। यहां से कुछ महीने पूर्व ही वह पास आउट होकर रेजिमेंट में ज्वाइन कर लिया था। परसों रात वह दुर्घटनाग्रस्त ट्रेन में अपने अन्य साथियों सहित सवार था।

      रविवार सुबह जब रेल दुर्घटना हुई तो जिस डिब्बे में वह बैठा था वह भी दुर्घटनाग्रस्त हो गया। NDRF की टीम ने जब उसको बाहर निकाला तो वह दम तोड़ चुका था। उसकी जेब से निकले पहचानपत्र के आधार पर रेलवे के अधिकारियों ने सेना को सूचित किया। सेना का एक दल तत्काल घटनास्थल पर पहुंच गया तथा उसकी पहचान कर शव को कब्जे में लेकर उसके परिजनों को सूचित किया।

       समाचार आते ही पूरे क्षेत्र में शोक की लहर छा गई। उसका बड़ा भाई संजीव और मौसी का लडक़ा बिटटू तत्काल कानपुर रवाना हो गए, जहां सेना में ही कार्यरत सैनिक के चाचा भी उनको रास्ते में मिल गए। जहां से तीनों शव को लाने कानपुर पहुंच गए। मंगलवार को शव के गांव पंहुचने की उम्मीद है। मृतक नरेंद्र के पिता मिल्खी राम ने बताया कि दो दिन पूर्व ही उनके बेटे की पूरे परिवार से बात हुई थी और उसने अन्य स्थान पर जाने बारे बताया था। लेफ्टिनेंट नरेंद्र की इस आकस्मिक मृत्यु पर पूरे क्षेत्र में शोक की लहर छा गई है।

     प्रदेश पूर्व ऑफिसर सैनिक एसोसिएशन के अध्यक्ष कैप्टन जगदीश चन्द वर्मा, पंचायत प्रधान माया देवी, समाजसेवी डॉ सुनील शर्मा, कप्तान ज्ञान चन्द, भूमि चन्द, दलीप ठाकुर, राम लाल कौशल, विधायक कर्नल इन्दर सिंह और अन्य पूर्व सैनिकों ने इस हृदय विदारक घटना पर घर शोक प्रकट करते हुए शोक संतप्त परिवार के प्रति अपने गहरी संवेदना प्रकट की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.