| | | |

#CWG  : सोना हासिल करने का लक्ष्य लेकर रिंग में उतरेगा हिमाचली गबरू “आशीष चौधरी”

सुंदरनगर, 01 अगस्त : टोक्यो ओलंपिक बॉक्सिंग के खिलाड़ी आशीष चौधरी कॉमनवेल्थ गेम्स में सोमवार देर रात 1 बजे अपने पहले मुकाबले में सोना हासिल करने के लक्ष्य को लेकर रिंग में उतरेंगे। बर्मिंघम के नेशनल एग्जीबिशन सेंटर में होने वाली बॉक्सिंग प्रतियोगिता में 80 किलोग्राम भार वर्ग में सोमवार 1 अगस्त को आशीष का पहला मुकाबला न्यू आइसलैंड के मुक्केबाज टी ट्रेविस के साथ होगा।

  न्यू आइसलैंड न्यूजीलैंड के पास एक छोटा सा द्वीप समूह है, जहां के खिलाड़ी हर प्रतियोगिता में अपने प्रतिद्वंदी को कड़ा मुकाबला देने के लिए जाने जाते है। आशीष चौधरी अपनी लंबी भुजाओं, शानदार कद काठी और चीते की फुर्ती के दम पर अपने विरोधी पर भारी रहेंगे। इस समय आशीष चौधरी का पूरा ध्यान प्रतियोगिता के हर चरण में जीत हासिल कर फाइनल तक पहुंचने को लेकर है। जिसके बाद उनका एक ही लक्ष्य है, वह है देश के लिए सोना जीतना।

टोक्यो ओलंपिक से लौटने के बाद आशीष चौधरी ने लगातार अपना अभ्यास जारी रखा। जिसके बलबूते पर उन्होंने कॉमनवेल्थ खेलों के लिए हुए क्वालीफाई मैच में जीत हासिल कर बर्मिंघम की टिकट पक्का किया। कॉमनवेल्थ के बाद अगली बड़ी प्रतियोगिता चीन में होने वाली एशियन गेम्स और उसके बाद पेरिस में होने वाले ओलंपिक है। जिसमें जाने के लिए भारतीय टीम का हिस्सा बनने के लिए वह पसीना बहाएंगे।

आशीष की जीत को लेकर आश्वस्त है मां दुर्गा देवी : मां दुर्गी देवी सहित परिवार के अन्य लोगों व मित्र कॉमनवेल्थ में होने वाले हर मुकाबले में आशीष की जीत को लेकर आश्वस्त है। उनका कहना है कि जो मेहनत आशीष चौधरी ने अपने खेल को संवारने में की है, उसका फल उसे अवश्य मिलेगा।

यह है आशीष की उपलब्धियां :  आशीष चौधरी ने स्कूल की पढ़ाई पूरी करने के बाद एमएलएसएम कॉलेज सुंदरनगर से स्नातक की। 8 जुलाई 1994 को स्व. भगत राम डोगरा के घर जन्मे आशीष चौधरी ने 9 वर्ष की उम्र में ही हाथों में बॉक्सिंग ग्लव्स पहन लिए थे। वह एमएलएसएम कॉलेज में कोच नरेश ठाकुर के पास कोचिंग लेने जाते थे। आशीष चौधरी हिमाचल प्रदेश के पहले बॉ क्सर हैं, जो ओलंपिक में पहुंचे थे और अब आशीष राष्ट्रमंडल खेलों में आशीष सोना जीतने के लिए तैयार है। 

आशीष चौधरी ने हाल ही में हुई थाईलैंड इंटरनेशनल बॉक्सिंग प्रतियोगिता में रजत पदक हासिल कर देश का नाम रौशन किया है। इससे पूर्व वह नेशनल बॉक्सिंग प्रतियोगिता में स्वर्ण पदक, ऑल इंडिया इंटर यूनिवर्सिटी में रजत, इंडोनेशिया में हुई एशिया टेस्ट इवेंट इंटरनेशनल प्रतियोगिता में कांस्य पदक जीत चुके है। आर्मी स्पोर्ट्स संस्थान पुणे में हुई सीनियर राष्ट्रीय मुक्केबाजी प्रतियोगिता में भी आशीष ने कांस्य पदक जीता है। 

उन्होंने यूक्रेन में 21वीं इंटरनेशनल बॉक्सिंग प्रतियोगिता, रशिया में 10वीं इंटरनेशनल बॉक्सिंग, प्रतियोगिता, राउंड रोबिन इंटरनेशनल बॉक्सिंग प्रतियोगिता, विश्व सीरीज ऑफ़ बॉक्सिंग व इंडिया ओपन इंटरनेशनल प्रतियोगिता और बुल्गारिया में हुई 70वें स्ट्रेंडजा कप और प्रेजिडेंट कप में भी देश का प्रतिनिधित्व किया है।