HPPR
|

#Mandi : NHM कर्मियों के सब्र का इम्तिहान न ले सरकार…चुनाव के समय ठीक नहीं टकराव

मंडी, 31 जुलाई : हिमाचल की सरकार प्रदेश में एनएचएम कर्मियों के सब्र का इम्तेहान न ले, नहीं तो चुनावी वर्ष में टकराव किसी के लिए ठीक नहीं रहेगा। यह बात हिमाचल प्रदेश राज्य स्वास्थ्य समिति अनुबंध कर्मचारी संघ के प्रदेश अध्यक्ष अमीन चंद शर्मा ने रविवार को मंडी में एक प्रेस वार्ता के दौरान कही। उन्होंने बताया कि बीते कई वर्षों से कर्मचारी अपना कार्य हर क्षेत्र में पूरी कर्तव्य निष्ठा के साथ कर रहे हैं। 

प्रदेश में कोरोना काल के दौरान भी एनएचएम कर्मियों ने अपनी जान की परवाह किए बगैर सरकार के दिशा निर्देशों के अनुरूप कार्य किया, लेकिन अब प्रदेश सरकार इन कर्मचारियों के साथ किए अपने वादे को पूरा नहीं कर रही है। उन्होंने बताया कि एनएचएम कर्मियों के रेगुलर करने को लेकर ड्राफ्ट तैयार कर हिमाचल सरकार को भेजा गया है। उन्होंने सरकार से अपील की है एनएचएम कर्मियों को भी समग्र शिक्षा अभियान के कर्मचारियों की तर्ज पर रेगुलर किया जाए। उन्होंने बताया कि अब केवल मात्र हिमाचल  सरकार के द्वारा कैबिनेट में इसे अप्रूव कर एनएचएम कर्मियों के हितों में फैसला लिया जाए। 

उन्होंने कहा कि कर्मचारी बीते कई वर्षों से अपनी मांगों को लेकर संघर्षरत है। यदि मौजूदा सरकार उनकी मांग को पूरा नहीं करती है, तो वे आंदोलन करने को मजबूर होंगे। उन्होंने कहा कि चुनावी समय में टकराव किसी के लिए सही नहीं होगा। इसलिए समय रहते सरकार एनएचएम कर्मियों को रेगुलर करने पर शीघ्र विचार करे। वहीं, इससे पूर्व मंडी में जिला स्तरीय सम्मेलन का आयोजन किया गया है,जिसमें सैंकड़ों कर्मचारियों ने भाग लिया।