HPPR
|

मंडी : उफनते खड्ड में फंसी 5 मासूम जिंदगियां…33 वर्षीय महिला बनी देवदूत

सुंदरनगर, 31 जुलाई : मंडी जिला में लगातार हो रही मूसलाधार बारिश लोगों की जान के लिए आफत बन गई है। ताजा घटनाक्रम में जिले के उपमंडल थुनाग की ग्राम पंचायत गुडाह में बादल फटने के कारण खड्ड में अचानक जलस्तर बढ़ने से पानी के तेज बहाव में बहने से 5 स्कूली छात्र बाल-बाल बच गए। 

रेस्क्यू किए स्कूली बच्चे

  इस दौरान बच्चों के लिए महिला ने एक फरिश्ता बन जान की परवाह किए बगैर मासूम जिंदगियों को बचा लिया। इस प्रयास में बच्चों सहित महिला को चोटें आई है। सभी घायलों को उपचार के लिए सिविल अस्पताल करसोग लाया गया। 

       जानकारी के अनुसार शनिवार देर शाम उपमंडल थुनाग की ग्राम पंचायत गुडाह में बादल फटने के कारण स्कूल से छुट्टी होने के बाद घर लौट रहे 5 छात्र खड्ड में अचानक पानी का बहाव बढ़ने से उसकी चपेट में आ गए। छात्र जब स्कूल से घर लौट रहे थे उस दौरान भारी बारिश हो रही थी। ऐसे में बारिश से बचने के लिए छात्रों ने रास्ते में खड्ड के साथ बने टीन के शेड का सहारा लिया। लेकिन मूसलाधार बारिश के कारण खड्ड में जलस्तर बढ़ गया और टीन के शेड में बारिश से बचने के लिए रुके छात्रों को पानी ने अपनी चपेट में ले लिया। 

         गनीमत ये रही कि उसी समय एक महिला चंपा देवी अपने बच्चों को लेने आ रही थी। जैसे ही चंपा देवी ने खड्ड के पानी का तेज बहाव शेड की तरफ आते हुए देखा उसने जान की परवाह किए बगैर छात्रों को पानी के तेज बहाव के साथ बहने से बचा लिया। इस दौरान इन सभी को चोटें आई है। जिन्हें उपचार के लिए करसोग अस्पताल लाया गया। 

    वहीं घटना की सूचना मिलते ही करसोग प्रशासन की ओर से तहसीलदार राजेंद्र ठाकुर ने करसोग अस्पताल में सभी घायलों की स्थिति का जायजा लिया। प्रशासन द्वारा सभी घायलों को 4-4 हजार रुपये की फौरी राहत प्रदान की गई है।

हादसे में घायलों की हुई शिनाख्त
हादसे में घायलों की शिनाख्त पूनम (15) पुत्री लाल सिंह गांव सेरी तहसील थुनाग, मानवी (11) पुत्री लाल सिंह, गांव सेरी तहसील थुनाग, मधु (10) पुत्री इंद्र सिंह गांव सेरी तहसील थुनाग, रितेश (7) पुत्र इंद्र सिंह गांव सेरी तहसील थुनाग, चंपा देवी (33) पत्नी इंद्र सिंह गांव सेरी तहसील थुनाग व रविकांत (19) पुत्र टेक चंद गांव नागी नाला तहसील थुनाग के तौर पर हुई है।