HPPR
|

#Himachal : प्लास्टिक के प्रतिबंध की टेंशन खत्म, मार्केट में चम्मच, प्लेट व गिलास… 

नाहन, 29 जुलाई : हिमाचल प्रदेश में एक जुलाई से सिंगल यूज प्लास्टिक पर प्रतिबंध लग चुका है। हालांकि राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने फिलहाल इस्तेमाल पर सख्ती नहीं दिखाई है, लेकिन यह माना जा रहा है कि आने वाले समय में राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड सख्ती दिखा सकता है।

हिमालय ग्रीन के बायोडिग्रेडेबल प्रोडक्ट्स

प्रतिबंध के बाद से कारोबारियों के साथ-साथ दुकानदारों में खलबली है। इसी बीच एक रोचक खबर सामने आई है। दरअसल प्रदेश में ही सिंगल यूज प्लास्टिक के उत्पादों के विकल्प उपलब्ध होने शुरू हो गए हैं।       

  औद्योगिक क्षेत्र कालाअंब में स्थित हिमालय ग्रीन (HIMALAYA GREEN) ने विकल्प के तौर पर बायोडिग्रेडेबल (Biodegradable plastic) प्रोडक्ट टेबल वियर व फूड रैपिंग इत्यादि उत्पाद उपलब्ध करवाने का ऐलान किया है, ये ऐसे प्रोडक्ट होंगे जो सिंगल यूज प्लास्टिक की कैटेगरी में नहीं होंगे। इसमें यूज एंड थ्रो “ग्लास व  प्लेट” भी शामिल है। इसके अलावा प्लास्टिक की बजाय बायोडिग्रेडेबल कैर्री बेग भी उपलब्ध भी है।

हिमालय ग्रीन को जैव-अवकर्षण प्लास्टिक प्रोडक्ट बनाने में करीब चार साल का तजुर्बा है, जबकि कंपनी की सिस्टर कंसर्न एचपी ग्रीन सॉल्यूशन (HP GREEN SOLUTION) लगभग 7 साल से इन प्रोडक्ट्स की मार्केटिंग के क्षेत्र में सक्रिय है।

         कंपनी के चेयरमैन आशुतोष गुप्ता का कहना है कि बायोडिग्रेडेबल प्लास्टिक लगातार बायोडिग्रेडेबल प्रोडक्ट्स पर कार्य किया जा रहा है, जल्द ही इन प्रोडक्ट को मार्केट में उपलब्ध करवा दिया जाएगा। आशुतोष गुप्ता ने कहा कि कंपनी द्वारा समूचे प्रदेश में डिस्ट्रीब्यूटर की टीम बनाई जा रही है, अगर कोई डिस्ट्रीब्यूटर बनना चाहता है तो वह कंपनी को मोबाइल नंबर 94180- 35001 पर व्हाट्सएप या कॉल कर जानकारी ले सकता है।  

    गुप्ता ने कहा कि हम सिंगल यूज़ वाले प्लास्टिक के सामान का विकल्प तलाशने में जुटे हुए हैं, इसमें कुछ कामयाबी भी मिली है। उन्होंने कहा कि क्षेत्र में कार्य कर रही इकाइयों से भी बातचीत जारी है। गौरतलब है कि चंद रोज पहले ही राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने बताया था कि प्रदेश में तीन औद्योगिक इकाइयां बायोडिग्रेडेबल प्रोडक्टस के उत्पादन के क्षेत्र में कार्य कर रही हैं, इसमें “हिमालय ग्रीन” भी शामिल है।

क्या है बायोडिग्रेडेबल प्लास्टिक….
बायोडिग्रेडेबल प्लास्टिक को नैचुरल सामग्री या पेट्रोकेमिकल संसाधनों से तैयार किया जाता है, जिसमें सामान्य प्लास्टिक की तरह केमिकल्स नहीं होते हैं। ये ऐसा प्लास्टिक है जो अपघटित (डिस्पोस) होने की क्षमता रखता है, इससे पर्यावरण को किसी भी तरह का खतरा नहीं होता है। जबकि सिंगल यूज़ प्लास्टिक अपघटित (Dispose) नहीं होता है,कूड़े के ढेर में जानवर भी इसका इस्तेमाल कर लेते है जिस कारण उनके स्वास्थय पर भी गहरा असर पड़ता है।