| |

हमीरपुर : एक साथ जली मां-बेटी की चिताएं, दिल्ली में सड़क हादसे में गई थी जान

हमीरपुर, 29 जुलाई : कभी किसी ने सोचा भी न होगा की जो मां-बेटी विदेश जाने के सपने देख रही है, वह कभी अपने घर भी नहीं लौट पाएगी। एक हादसे ने मां बेटी दोनों की ज़िंदगी छीन ली। 

जिला हमीरपुर के ग्राम पंचायत उटप के तहत आने वाले लंजियाना गांव की मां- बेटी की चिताएं शुक्रवार को एक साथ जली। बीती 25 जुलाई को दिल्ली सड़क हादसे में हुई मौत के बाद मां बेटी के शव शुक्रवार सुबह पैतृक गांव पहुंचे। महिला का पति कनाडा तथा बेटा हांगकांग से लौटे तभी शवों का अंतिम संस्कार किया गया। 

मां- बेटी की एक साथ चिता जलता देख लोगों की आंखों से आंसू थमने का नाम नहीं ले रहे थे। जैसे ही सुबह करीब 8:00 बजे शव पैतृक गांव पहुंचे वैसे ही माहौल मातम भरा हो गया। इसके बाद शवों को श्मशान घाट ले जाया गया, जहां पर महिला के शव का संस्कार श्मशान घाट के अंदर जबकि बेटी के शव का अंतिम संस्कार श्मशान घाट के बाहर किया गया।