HPPR
|

नाहन-शिमला हाईवे पर टूटी विशालकाय चट्टानें, 6 घंटे बाद ट्रैफिक बहाल…टला हादसा   

नाहन, 28 जुलाई : करीब-करीब 6 घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद नाहन-शिमला हाईवे को बहाल कर लिया गया है। सराहां उपमंडल में सादना घाट के नजदीक विशालकाय चट्टानों के टूट कर हाईवे पर गिरने से यातायात बाधित हो गया था। हालांकि यह इलाका स्लाइडिंग जोन में आता है, लेकिन इस स्तर की विशालकाय चट्टानों के पहली बार गिरी। लिहाजा नेशनल हाईवे विभाग को सड़क की बहाली में दो ब्रेकर व चार जेसीबी मशीनों का इस्तेमाल करना पड़ा। हाईवे की बहाली का कार्य सुबह आठ बजे के आस-पास शुरू किया गया जो दोपहर करीब एक बजे पूरा हुआ।    

हालांकि स्पष्ट तौर पर यह नहीं पता चला है कि ये चट्टानें कितने बजे टूटकर हाईवे पर गिरी, लेकिन नेशनल हाईवे विभाग को सुबह 7:00 बजे के आसपास इसकी जानकारी मिली थी।   बताया जा रहा है कि स्लाइडिंग ज़ोन होने की वजह से एक जेसीबी की तैनाती पहले से ही घटनास्थल के समीप की गई थी, लेकिन चट्टानें इतनी विशाल थी कि एक जेसीबी के दम पर इसे हटाना मुश्किल था।

बताया यह भी जा रहा है कि हिमाचल पथ परिवहन परिवहन निगम की नाहन-शिमला नॉन स्टॉप बस सेवा भी मार्ग अवरुद्ध होने से हाईवे पर ही फंसी रही। बताया जा रहा है कि चट्टानें टूटने के दौरान हाईवे से कोई भी वाहन नहीं गुजर रहा था, अन्यथा बड़ी अनहोनी हो सकती थी। 

      उधर, एमबीएम न्यूज नेटवर्क से बातचीत में नेशनल हाईवे के सराहां में तैनात एसडीओ आर एल भाटिया ने कहा कि हाईवे को करीब 1:00 बजे बहाल कर लिया गया है। एसडीओ ने बताया कि दो ब्रेकर की मदद से विशालकाय चट्टानों को काटने के बाद जेसीबी से मलबे को साइड में किया गया। एसडीओ ने कहा कि इस बात की सही जानकारी नहीं है कि चट्टानें कितने बजे टूटी, लेकिन 7  बजे इसकी जानकारी मिल गई थी। एसडीओ ने माना की कड़ी मशक्कत के बाद हाईवे को बहाल किया गया है।