HPPR
|

#Mandi : अनाज पर GST के विरोध में जनवादी महिला समिति उग्र

मंडी, 23 जुलाई : देश में आजादी के बाद पहली बार अनाज पर लगाए गए जीएसटी पर अखिल भारतीय जनवादी महिला समिति उग्र हो गई है। इसी के चलते शनिवार को अखिल भारतीय जनवादी महिला समिति के राष्ट्रव्यापी प्रदर्शन के दौरान मंडी में भी धरना प्रदर्शन किया गया। 

यह धरना प्रदर्शन मंडी शहर के सेरी चानणी में अखिल भारतीय जनवादी महिला समिति मंडी के द्वारा किया गया। इस दौरान प्रदर्शनकारियों ने केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। इस मौके पर अखिल भारतीय जनवादी महिला समिति जिला मंडी की प्रधान डॉक्टर वीना वैद्य ने केंद्र और प्रदेश की भाजपा सरकार पर महंगाई के इस दौर में जनता को लूटने का आरोप लगाया। 

उन्होंने बताया कि सरकार ने अब अनाज पर भी जीएसटी लगा दिया है जो महंगाई की आग में घी डालने की तरह है। उन्होंने सरकार से खाद्य सुरक्षा बजट को बढ़ाने की भी मांग की है। सरकार लोगों को महंगाई से राहत देने के बजाए प्रतिदिन महंगाई में बढ़ौतरी कर रही है जो कि सही नहीं है। 

वहीं समिति ने देश व प्रदेश में बढ़ रही बेरोजगारी पर भी चिंता जाहिर करते हुए अग्निपथ योजना पर भी सवाल उठाए हैं। इसके साथ ही समिति ने सरकार पर अपने चहेतों को लाभ देने का आरोप लगाया। वहीं समिति ने डिपो में सस्ता राशन हर परिवार को देने, बायोमेट्रिक मशीन बंद करने, कॉपी किताबों पर लगाए गए जीएसटी को वापस लेने, गैस सिलेंडर की सब्सिडी बहाल करने की मांग भी उठाई। 

वीना वैद्य ने बताया कि कैप्टन लक्ष्मी सहगल जनवादी महिला समिति के संस्थापक सदस्यों में से एक थी जिन्होंने देश की आजादी के आंदोलन में महत्वपूर्ण भूमिका अदा की और देश को आजाद करवाया। उन्हीं की जयंती को याद करते हुए महिला समिति हर वर्ष इस दिन को मांग दिवस के रूप में मनाती है और महिलाओं को उनके अधिकारों के प्रति जागरूक करती है। धरने प्रदर्शन में समिति की जिला सचिव जयवंती, सुनीता, रीना, प्रोमिला, शकुंतला, भावना, पूनम ने हिस्सा लिया।