HPPR
| | |

ठियोग के पूर्व विधायक दिवंगत राकेश वर्मा की पत्नी इंदू वर्मा ने थामा कांग्रेस का दामन

शिमला, 22 जुलाई : हिमाचल प्रदेश के शिमला जनपद के ठियोग विधानसभा क्षेत्र के पूर्व भाजपा विधायक दिवंगत राकेश वर्मा की पत्नी इंदू वर्मा ने शुक्रवार को कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण की है। इस समय भाजपा महिला मोर्चा के पदाधिकारी के तौर पर भी सेवारत थी।

गौरतलब है कि विधानसभा क्षेत्र के पूर्व विधायक राकेश वर्मा का करीब 2 साल पहले हृदयाघात के कारण निधन हो गया था। भाजपा नेत्री ने शुक्रवार को कांग्रेस के दिल्ली मुख्यालय में पार्टी के हिमाचल प्रभारी राजीव शुक्ला की मौजूदगी में कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण की है।

बता दें कि दिवंगत राकेश वर्मा पहली बार 1993 में कांग्रेस के वरिष्ठ नेत्री विद्या स्टोक्स को हराकर विधायक बने थे। ऐसा जाहिर हो रहा है कि कांग्रेस ठियोग विधानसभा क्षेत्र से इंदु वर्मा पर दांव खेल सकती है। गौरतलब है कि इंदु वर्मा भाजपा महिला मोर्चा की जिला अध्यक्ष भी रह चुके हैं, इसके अलावा पंचायती राज के चुनाव भी जीते हैं। करीब 20 मिनट में मीडिया के समक्ष इंदु वर्मा को पार्टी की सदस्यता दिलवाने का ऐलान किया गया। इस दौरान कांग्रेस नेता सुधीर शर्मा भी मौजूद थे।

गौरतलब है कि उम्रदराज होने की वजह से विद्या स्टोक्स सक्रिय राजनीति से किनारा कर चुकी है। 2017 में दिवंगत राकेश वर्मा 1983 मतों अंतर से सीपीआईएम के राकेश सिंघा से चुनाव हार गए थे। कांग्रेस के दीपक राठौर तीसरे स्थान पर रहे थे। 

दिलचस्प बात ये है कि इंदू वर्मा के देवर बलबीर वर्मा इस समय चौपाल विधानसभा क्षेत्र के विधायक हैं। दिवंगत राकेश वर्मा के निधन के बाद भाजपा भी शायद इस कोशिश में थी कि बलबीर वर्मा को ठियोग शिफ्ट कर दिया जाए। चौपाल से अन्य प्रत्याशी की तलाश की जाए।

ऐसे में अगर कांग्रेस इंदू वर्मा व भाजपा बलवीर वर्मा को टिकट देती है तो मुकाबला देवर-भाभी में हो सकता है। हालांकि, परिवारों के बीच गहरी घनिष्ठता है। दिवंगत राकेश वर्मा के चुनाव की बागडोर बलबीर वर्मा संभालते रहे हैं। 2012 में बलबीर वर्मा निर्दलीय विधायक बने थे। 2017 में बीजेपी के टिकट पर चुनाव जीता था।

कुल मिलाकर ये साफ है कि परिवार का प्रभाव ठियोग व चौपाल विधानसभा क्षेत्रों में है।