|

#Sirmaur: वन विभाग का यशवंतनगर बैरियर बना सफेद हाथी, धड़ल्ले से जारी है अवैध तस्करी…

राजगढ़, 21 जुलाई : वन माफिया पर लगाम कसने के दृष्टिगत करीब 40 वर्ष पहले वन विभाग द्वारा यशवंतनगर में स्थापित बैरियर किया गया था। जोकि वर्तमान में सफेद हाथी बन गया है। इस बैरियर पर बीतेे करीब तीन दशक से अवैध लकड़ी का कोई भी केस नहीं पकड़ा गया है। जबकि यह बैरियर 24 घंटे क्रियाशील है। जिस पर एक डिप्टी रैंजर, एक फोरेस्ट गार्ड के अतिरिक्त चार फोरेस्ट वर्कर तैनात किए गए हैं। जिनका प्रतिमाह करीब अढाई सेे तीन लाख का वेतन का खर्चा सरकार को वहन करना पड़ता है।

बता दें कि 60 के दशक में अपर शिमला व सिरमौर के ऊपरी क्षेत्रों से लकड़ी का बहुत कारोबार होता है। ठेकेदार वनों को काटकर उसके शहतीर बनाकर गिरी नदी में घाल अथवा ट्रकों के माध्यम से हरियाणा की यमुनानगर मार्किट में पहुंचाते थे। उन दिनों वन माफिया भी काफी सक्रिय हुआ करते थे। जिसके चलते वन विभाग द्वारा यशवंत नगर में बैरियर स्थापित किया गया था। 

गौर रहे कि इस बैरियर पर चकमा देकर बाघ व चीता की खाल के तस्करों को सोलन पुलिस द्वारा अनेको बार पकड़ा है। परंतु काफी अरसे से इस बेरियर पर अवैध लकड़ी, जानवरों की खाल, जंगली जड़ी बूटियों का अवैध कारोबार इत्यादि का कोई मामला नहीं पकड़ा गया है।

बीते कुछ माह पहले यशवंतनगर बाजार में पुलिस द्वारा बैरियर से करीब 100 मीटर की दूरी पर अवैध रूप से ले जाए जा रहे बिरोजा के 75 टीन पकड़े थे। वन माफिया बैरियर को आसानी से क्रॉस कर गए थे। परंतु गुप्त सूचना के आधार पर बाजार में दबोच दिए गए थे। 

सवाल उठता है कि न जाने कितने वन माफिया बैरियर पर चकमा देकर निकल जाते होंगे। चूंकि यह बैरियर हल्के वाहनों के लिए हर समय खुला रहता है। इस बैरियर पर कोई जांच पड़ताल नहीं की जाती है। सबसे ज्यादा तस्करी हल्के वाहनों पर होती है। जहां एक ओर सरकार द्वारा माली हालत को देखते हुए अनेक खर्चों में कटौती की गई है। वहीं इस बैरियर पर तैनात कर्मचारियों के वेतन का बोझ सरकार को वहन करना पड़ रहा है, जबकि बैरियर की आउटपुट जीरो है। 

बैरियर पर तैनात कर्मचारियों का कहना है कि वनों के कटान पर सरकार द्वारा प्रतिबंध लगाने के उपंरात पिछले काफी वर्षों से लकड़ी की अवैध तस्करी पर काफी अंकुश लगा है। जिस कारण अवैध लकड़ी का कोई भी मामला प्रकाश में नहीं आया है।

डीएफओ राजगढ़ टी. वैकटेशवर से जब इस बारे में बात की गई तो उन्होंने बताया कि लकड़ी के अवैध कारोबार को रोकने के लिए बैरियर का होना जरूरी है। बैरियर के नाम पर वन माफिया में भय भी रहता है। इसके अतिरिक्त इस बैरियर के आधुनिकीकरण करने की भी योजना है ताकि वन माफिया पर अंकुश लग सके ।

शिमला : होटल से उड़ाई दो लाख की नकदी और ज्वेलरी…एक कर्मचारी गायब

शिमला, 10 अगस्त : राजधानी शिमला के एक निजी होटल में चोरी का मामला सामने आया है। दो लाख रुपये की नकदी और ज्वेलरी चोरी होने से होटल मालिक के होश उड़ गए। अहम बात यह है कि चोरी की वारदात के बाद होटल का एक कर्मी गायब हो गया है।  ऐसे में होटल मालिक ने…

शिमला : तीन साल बाद सोलन से दबोचा उद्घोषित अपराधी

शिमला, 09 अगस्त : चोरी के एक मामले में अदालत द्वारा घोषित किए गए एक अपराधी को पुलिस ने तीन साल बाद गिरफ्तार किया है। दरअसल आरोपी वर्ष 2019 से फरार चल रहा था।            पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक पुलिस के पीओ सेल ने एक घोषित अपराधी जिस नाम जितेंद्र…

#HP : बाइक के आगे कुत्ता आने से बिगड़ा संतुलन, ट्रक से टकराने पर जख्मी हुआ युवक 

ऊना, 09 अगस्त : सदर थाना के तहत समूर कलां में एक बाइक अनियंत्रित होकर ट्रक से टकरा गई। हादसे में घायल बाइक चालक को क्षेत्रीय अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। वहीं पुलिस ने बाइक चालक पर लापरवाही से बाइक चलाने पर मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। जानकारी के मुताबिक मंगलवार…

आर्मी ट्रक ने स्कूटी सवार युवकों को मारी टक्कर, एक की मौत 

कांगड़ा, 08 अगस्त : हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा जिला में एक दर्दनाक सड़क हादसा सामने आया है। जिसमें स्कूटी सवार युवक की मौत हो गई है। मिली जानकारी के अनुसार पठानकोट-मंडी राष्ट्रीय राजमार्ग पर आर्मी ट्रक ने स्कूटी सवार युवकों को टक्कर मार दी, जिसमें से एक की मौत हो गई।  सूत्रों से मिली जानकारी…