HPPR
| | |

#Nahan: अजय ठाकुर को मिला मानव परिंदे उड़ाने का लाइसेंस, ददाहू से हो सकेगी फ्लाइट

नाहन, 19 जुलाई : हिमाचल प्रदेश में पैराग्लाइडिंग (Paragliding) के रोमांच को लेकर कांगड़ा के बीड़ बीलिंग (Bir Beeling) का नाम जुबां पर आता है। इसके अलावा कुछ अन्य क्षेत्रों में भी पर्यटक पैराग्लाइडिंग का रोमांच लेते हैं। लेकिन सिरमौर में पहली बार नाहन के रहने वाले अजय ठाकुर को टेंडम फ्लाइट का लाइसेंस हासिल हुआ है। यानि, वो मानव  परिंदों को आसमान की सैर करवा सकेंगे।

ऐसा माना जा रहा है कि अजय ठाकुर सिरमौर के पहले शख्स हैं, जिन्होंने टेंडम फ्लाइट (Tandem Flight) का लाइसेंस हासिल किया हैं, इसके लिए अजय को पर्यटन व नागरिक उड्डयन विभाग (Department of Tourism and Civil Aviation) की कठिन परीक्षा से भी गुजरना पड़ा।

चाहते तो अजय बीड बीलिंग या फिर कुल्लू घाटी में पैरा ग्लाइडिंग में अच्छी खासी कमाई कर सकते थे, लेकिन वो सिरमौर पर ही केंद्रित रहना चाहते हैं। इस कारण ही अजय ने अपनी कंपनी का नाम सिरमौर एडवेंचर्स (Sirmour Adventures) रखा है।

आपको बता दें कि हाल ही में हरिपुरधार के अलावा ददाहू क्षेत्र में पैराग्लाइडिंग के लिए दो स्थानों को अधिसूचित किया जा चुका है। ददाहू की साइट को विकसित करने में अजय की महत्वपूर्ण भूमिका रही है।

अहम बात ये भी है कि टूरिज्म व नागरिक उड्डयन विभाग ने अजय को 15 से 30 मिनट की फ्लाइट के लिए 3 हजार की फीस को लेकर अप्रूवल दी है, लेकिन वो 2500 रुपए ही चार्ज करेंगे। साथ ही उड़ान के दौरान पायलट के साथ क्लाइंट की भी इंश्योरेंस होगी।

एमबीएम न्यूज नेटवर्क से बातचीत में अजय ने कहा कि वो अपने पैतृक जिला में टेंडम उड़ाने भरने के लिए बेहद ही उत्साहित हैं। उन्होंने कहा कि ददाहू की साइट बेहद ही खूबसूरत हैं, क्योंकि आसमान से श्री रेणुका जी झील (Shri Renuka Ji Lake) के अलावा गिरिनदी का विहंगम दृश्य नजर आता है।

एक सवाल के जवाब में अजय ने कहा कि वो अब तक 600 से 700 घंटे की उड़ानें भर चुके हैं।