HPPR
|

मंडी : बल्ह में बचाई जाए जलमग्न हो रही किसानों की जमीन व घर

मंडी, 16 जुलाई : जिला के बल्ह इलाके के टावां-कुम्मी रोड का स्तर ऊपर उठाने के कारण मानसून के शुरुआत में ही बारिश का पानी अब लोगों के घरों और जमीन में घुसना शुरू हो गया है। जिसके कारण इलाके की लगभग 400 बीघा जमीन जलमग्न हो रही है। इस समस्या के निदान के लिए शुक्रवार को हिमाचल किसान सभा, बल्ह इकाई, मंडी का प्रतिनिधिमंडल प्रेम दास चौधरी की अध्यक्षता में उपमंडलाधिकारी (नागरिक) बल्ह से मिला व उन्हें एक ज्ञापन सौंपा। 

इस दौरान ग्रामीणों ने प्रशासन से उनकी भूमि और उनके घरों को पानी से बचाने के लिए यहां पर पानी निकासी की सही व्यवस्था समय रहते करने की मांग उठाई। किसान सभा बल्ह इकाई के अध्यक्ष प्रेम दास चौधरी ने बताया कि टावां से कुम्मी रोड में पानी की निकासी न होने के कारण उपजाऊ भूमि व घरों में पानी घुस रहा है, क्योंकि टावां-कुम्मी रोड का स्तर ऊपर उठाते वक्त निकासी की उचित व्यवस्था नहीं की गई। जिसके कारण ग्रामीणों की लगभग 400 बीघा जमीन बरसात में जलमग्न हो जाती है।

इस कारण लोगों की उपजाउ जमीन पर बोई गई फसल भी खराब होने की कगार पर पहुंच गई है। किसान सभा ने प्रशासन व सरकार से मांग उठाई है कि गाँव में तुरंत निकासी का प्रबंध किया जाये और जो नुकसान हुआ है, उसका आकलन करके भरपाई की जाए। सभा के उपाध्यक्ष परस राम ने कहा कि लोक निर्माण विभाग जब इस रोड को पक्का कर रहा था तो भी यहां पर ग्रामीणों ने विरोध किया था। इसके बावजूद लोक निर्माण विभाग ने इसकी ऊंचाई बढ़ा दी।

उन्होंने प्रशासन से अनुरोध किया कि गाँव के लोगों की समस्या को जल्दी हल किया जाये, अन्यथा किसान संघर्ष करने को मजबूर होंगे। इस मौके पर रामजीदास, जोेगिंदर वालिया, नन्द लाल वर्मा, कमला देवी, रोशनी देवी, मीरा, हिमाचली देवी, दया देवी, बंटी देवी, हिमा देवी, कृष्णा देवी, पुष्पा, रतन चंद, मोहन दास, विमला, राम, हरि सिंह, कैप्टन प्रेम दास, विनय, कश्मीर सिंह, पन्ना लाल, बलदेव चंद आदि मौजूद रहे।