HPPR
| | | |

हिमाचल : फ़्रांस में भारत का प्रतिनिधित्व करेगी देश की सबसे कम उम्र की गो-कार्टिंग रेसर ‘श्रेया’

सुंदरनगर, 14 जुलाई : देश के सबसे कम उम्र की 13 वर्षीय गो-कार्टिंग रेसर श्रेया लोहिया अब फ़्रांस में जाकर अपनी क़ाबलियत का लोहा मानवाएगी। 17 से 19 अगस्त तक फ्रांस में होने वाली इंटरनेशनल प्रतियोगिता (International competition) के लिए श्रेया लोहिया का चयन हुआ है। श्रेया लोहिया के चयन से उनके परिवार सहित उनके चाहने वालों में खुशी की लहर दौड़ गई है।

 जानकारी देते हुए श्रेया लोहिया के पिता रितेश लोहिया ने कहा कि “एफआईए वूमेन इन मोटरस्पोर्ट्स कंपटीशन” (FIA Women in Motorsport Competition) में विश्व भर से मात्र 14 लड़कियों का चयन हुआ है। इसमें हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) के जिला मंडी की ग्राम पंचायत महादेव की रहने वाली श्रेया लोहिया को भी उनके बेहतर प्रदर्शन को देखते हुए खेलने का मौका मिला है। उन्होंने कहा कि यदि इस प्रतियोगिता में श्रेया विजेता रहती है तो रेसिंग की दुनिया में सबसे बड़ी ‘फरारी’ अकादमी की ओर से श्रेया को स्पॉन्सरशिप (Sponsorship) मिल जाएगी। इससे भविष्य में श्रेया लोहिया को आगे बढ़ने के लिए सहायता मिलेगी। 

17 से 19 अगस्त तक फ्रांस में इस प्रतियोगिता का आयोजन होगा।  बता दें कि सुंदरनगर की श्रेया लोहिया ने मात्र 10 वर्ष की छोटी सी उम्र में एक बड़ा मुकाम हासिल किया था। श्रेया देशभर में सबसे कम उम्र की गो-कार्टिंग कार रेसर (Go Cart Car Racer) बनी थी। उस समय मुंबई में आयोजित राष्ट्रीय रोटैक्स चैम्पियनशिप (National Rotax Championship) में पूरे भारत से प्रतिस्पर्धा में भाग लेने वाली एकमात्र लडकी थी। श्रेया ने इस प्रतियोगिता में चौथा स्थान प्राप्त किया था। श्रेया के पिता मैकेनिकल और माता कंप्यूटर इंजीनियर हैं। 

श्रेया लोहिया को राष्ट्रीय बाल पुरस्कार 2022 दिया गया है। श्रेया को यह पुरस्कार कार्ट रेसिंग में असाधारण प्रतिभा का प्रदर्शन कर देश का नाम रोशन करने पर प्रोत्साहन दिया गया है। राष्ट्रीय बालिका दिवस के मौके पर देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने वर्चुअल माध्यम से मंडी की श्रेया को डिजीटल पुरस्कार व एक लाख रुपये देकर सम्मानित किया गया था।