| |

#Nahan: कोर्स का सही चयन न होना बेरोजगारी की वजह, जानिए आस्था स्कूल के कोर्स की खूबी

नाहन, 09 जुलाई : मौजूदा समय में बेरोजगारों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। हालांकि इसके कई कारण हो सकते हैं, लेकिन एक वजह ये भी है कि जमा दो की पढ़ाई करने के बाद युवाओं को अक्सर ही कोर्स के सही चयन का ज्ञान नहीं होता। लिहाजा डिग्री या डिप्लोमा करने के बाद बेरोजगारी का सामना करना पड़ता है।  

   सुप्रीम कोर्ट के तमाम राज्यों को इस बात की हिदायत दी हुई है कि हर विद्यालय में स्पेशल एजुकेटर की नियुक्ति होनी चाहिए। इस कोर्स को कई नामी संस्थानों द्वारा भारतीय पुनर्वास परिषद (Rehabilitation Council of India) की गाइडलाइन के मुताबिक संचालित भी किया जा रहा है, लेकिन जानकारी के अभाव में युवा इस कोर्स का फायदा नहीं ले पा रहे हैं।  

      हिमाचल प्रदेश के नाहन शहर में विशेष आवश्यकता वाले बच्चों के नामी स्कूल “आस्था” द्वारा भी इस कोर्स को पिछले कुछ वर्षों से चलाया जा रहा है। इस बार ऑनलाइन आवेदन की तिथि 22 जुलाई है। दिलचस्प बात यह भी है कि इस कोर्स को पूरा करने के बाद जेबीटी के पद पर तो पात्रता बनती ही है, साथ ही स्पेशल एजुकेटर (Special Educator) की पात्रता भी हो जाती है यानी 2 साल के इस कोर्स से रोजगार हासिल करने का दोहरा अवसर हाथ में आ जाता है।

जमा दो के बाद जेबीटी कोर्स करने के प्रति रुझान रहता है, लेकिन इच्छुक उम्मीदवारों को यह नहीं पता चलता कि एक कोर्स से 2 पदों की पात्रता भी बन सकती है। उदाहरण के तौर यदि जेबीटी की वैकेंसी नहीं निकलती है तो स्पेशल एजुकेटर भी बना जा सकता है। ये प्रोफेशनल पढ़ाई भविष्य में कैरियर सुरक्षित कर सकती है। आस्था स्कूल से कोर्स करने वालों को स्कूलों में आउटसोर्सिंग (Outsourcing) के आधार पर नियुक्ति मिल भी रही है।               

    सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय (Ministry of Social Justice and Empowerment) के अंतर्गत भारतीय पुनर्वास परिषद (RCI) ने जेबीटी के साथ स्पेशल एजुकेटर बनने का मौका इस साल भी दिया है।

उधर, आस्था स्कूल ऑफ स्पेशल एजुकेशन (Aastha School of Special Education) की प्रधानाचार्य रुचि कोटिया ने बताया कि जमा दो की परीक्षा में न्यूनतम 50 प्रतिशत अंक वाले युवा आवेदन कर सकते हैं। उन्होंने बताया कि संस्थान में  35 सीटें उपलब्ध हैं।

प्रिंसीपल ने कहा कि ऑनलाइन आवेदन के लिए संस्थान की मदद भी ली जा सकती है। उन्होंने कहा कि संस्थान में पहले से ही विशेष आवश्यकता वाले बच्चों को शिक्षा प्रदान की जाती है। उन्होंने कहा कि दाखिलों को लेकर मोबाइल नंबर 9805920934, 7650084779, 959216461 के अलावा 01702-223947 पर संपर्क किया जा सकता है।