HPPR
|

#Shimla : पशु औषधालय डुब्लु में नहीं मिल रही पशुधन स्वास्थ्य सेवाएं

शिमला, 07  जुलाई : ग्राम पंचायत बलोग के पशु औषधालय डुब्लु में पशुधन को बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं न मिलने पर विशेषकर किसानों ने विभाग के प्रति काफी नाराजगी जताई है। जिसके बारे में पंचायत प्रधान बलोग ओम प्रकाश द्वारा पशुपालन विभाग को पत्र लिखकर अवगत भी करवाया गया है। इनका कहना है कि पंचायत मेें एक हजार से अधिक गोवंश व अन्य पालतू पशु है। 

इनका आरोप है कि पशु औषधालय में फार्मासिस्ट न रहने के कारण किसानों को अपने मवेशियों के इलाज के लिए कोटी, जुन्गा अथवा सोलन जिला के चायल व गौडा जाना पड़ता है। पंचायत प्रधान का कहना है कि पशु औषधालय में कार्यरत फार्मासिस्ट अपने कार्यालय में बहुत कम बैठते है, और फील्ड में पशु को टीका इत्यादि लगाने के लिए मना करते हैं। 

प्रधान ने बताया कि पंचायत में 95 प्रतिशत से अधिक किसानों द्वारा गौवंश रखे गए हैं। औषधालय में बेहतरीन पशु चिकित्सा सेवा न मिलने से किसान बहुत परेशान है। उन्होंने सरकार व विभाग से पशु पालकों की समस्या का समाधान करने की मांग की है। 

उधर, पशु अस्पताल जुन्गा के चिकित्सक डाॅ. सुनील कुमार ने डुब्लु औषधालय के फार्मासिस्ट के खिलाफ शिकायत प्राप्त होने की पुष्टि की है। उन्होने बताया कि कर्मचारी के विरूद्ध पहले भी विभागीय जांच होने पर चेतावनी दी चुकी है। पंचायत से प्राप्त शिकायत को उच्चाधिकारियों को उचित कार्रवाई के लिए प्रेषित किया जा रहा है।