HPPR
| | |

निदेशक इम्तियाज अली की खोज हिमाचल की इंजीनियर बेटी ‘आरूषि शर्मा’…जादूगरी का लीड रोल

शिमला, 05 जुलाई : बाॅलीवुड के मशहूर निदेशक इम्तियाज अली की खोज आरूषि शर्मा अभिनय जगत में फलक छूने की तरफ अग्रसर है। लव आजकल व तमाशा फिल्म से इंडस्ट्री में पदापर्ण करने वाली आरूषि अब 15 जुलाई को नेटफलिक्स पर रिलीज हो रही फिल्म ‘जादूगरी’ के लीड रोल में नजर आएगी।

रोमांटिक व काॅमेडी फिल्मों में अभिनय का लोहा मनवा चुकी आरूषि शर्मा एक-एक कदम आगे बढ़ रही है। 2014 में आरूषि जेपी इंस्टिटयूट वाकनाघाट में बीटेक की पढ़ाई कर रही थी। ऑडिशन में आरूषि का चयन कर लिया गया।

 न्यायधीश माता-पिता अपर्णा शर्मा व आरके शर्मा के घर जन्मी आरूषि ने अपनी काबलियत को खुद साबित किया है। आरूषि के चाचा मनमोहन शर्मा एक आईएएस अधिकारी हैं। छोटी बहन दिल्ली विश्वविद्यालय से लाॅ की पढ़ाई कर रही है। जादूगरी में मुख्य किरदार में जितेंद्र कुमार हैं। वो एक ऐसे अभिनेता हैं, जिन्होंने नेटफलिक्स में वैब सीरीज में एक अलग पहचान बनाई हैै।

लाॅरेंट कारमल काॅन्वेंट स्कूल में पढ़ी आरूषि एक आकर्षक व्यक्तित्व की धनी हैं। इम्तियाज अली की रोमांटिक काॅमेडी फिल्म आजकल-2 में सह अभिनेत्री के तौर पर ही आरूषि ने अपनी प्रतिभा की छाप छोड़ी थी।

 परिवार का मानना है कि आरूषि आत्मविश्वासी है। अभिनय व फिल्म देखने वालों का मनोरंजन करने की क्षमता भी है। गौरतलब है कि हिमाचली बेटी ने फिल्म उद्योग में खुद को साबित करने के लिए इंजीनियरिंग के कैरियर का बलिदान दिया है। वो बखूबी जानती है कि गैर बाॅलीवुड पारिवारिक पृष्ठभूमि से आने वाले कलाकारों को इंडस्ट्री में खासी चुनौतियों का सामना करना पड़ता है।

सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर आरूषि के प्रशंसकों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा हैै। नाहन के कारमल काॅन्वेंट स्कूल में प्रारंभिक शिक्षा हासिल करने वाली आरूषि के सहपाठियों को इस बात का अहसास था कि वो जीवन में कुछ लीक से हटकर करेगी, वैसा हो भी रहा है।

हिमाचली बेटी की पृष्ठभूमि एक संपन्न परिवार की है। माता-पिता न्यायिक अधिकारी हैं तो चाचा आईएएस हैं। अमूमन इस तरह की पृष्ठभूमि के बच्चों को यूपीएससी की तैयारी के लिए प्रेरित किया जाता है, लेकिन यहां बात अलग हुई है, क्योंकि आरूषि को खुद के कैरियर को चुनने का विकल्प मिला।

आपको ये भी बता दें कि आरूषि ने एक ही फिल्म में दो अलग-अलग किरदार निभाए थे। ये इस बात का घोतक था कि आरूषि रूपहले पर्दे पर प्रतिभा का डंका बजाएगी। मूलतः शिमला की ठियोग तहसील के समीप छैला के मांदल गांव की रहने वाली आरूषि पढ़ाई में बचपन से होशियार रही है।

आरूषि की चचेरी बहन पूजा सेमटा शर्मा ने कहा कि उम्मीद है कि जादूगरी में आरूषि का किरदार दर्शकों को पसंद आएगा।